संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

अडानी पॉवर प्लांट विरोधी आंदोलन / पेंच परियोजना

झारखण्ड सरकार ने अडानी के लिए बदली ऊर्जा निति : अडानी को 7410 करोड़ का फायदा

गिरीश मालवीय ने फेसबुक पोस्ट के जरिये अडानी पॉवर प्लांट का मसला उठाया है। उन्होंने जिक्र किया है कि अडानी के पॉवर प्लांट के लिए राज्य सरकार की जेब पर हर साल 296.40 करोड़ रु का अतिरिक्त बोझ पड़ सकता है. समझौता 25 साल के लिए हुआ है. इस लिहाज से देखें तो यह अतिरिक्त बोझ कुल मिलाकर 7410 करोड़ रु का होगा। गिरीश मालवीय ने लिखा है कि इस पावर प्लांट से…
और पढ़े...

संसाधनों की लूट के खिलाफ किसान महापंचायत

मध्य प्रदेश के छिंदवाडा में किसान संघर्ष समिति द्वारा 11 दिसम्बर 2017 को पेंच व्यपर्तन परियोजना और अड़ानी पॉवर…

झारखण्ड : अडानी के खिलाफ अनिश्चितकालीन सत्याग्रह से विधायक प्रदीप यादव गिरफ्तार;…

मणि भाई झारखण्ड के गोड्डा जिले में प्रस्तावित अडानी पावर प्लांट के खिलाफ 16 अप्रेल से चल रहे आमरण अनशन के…

झारखण्ड : अडानी के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरने में उमड़ा जनशैलाब

झारखण्ड के गोड्डा जिले में प्रस्तावित अडानी पावर प्लांट के खिलाफ 16 अप्रेल से चल रहे आमरण अनशन के पांचवे दिन प्रभावित क्षेत्र के लोगों ने 10 किमी. लम्बी पदयात्रा निकाली है। मोतिया से निकलकर बक्सरा तक निकाली गई महारैली में लोगों को 'अडानी कम्पनी वापस जाओ' का नारा बुलंद करते देखा गया। वहीं पारम्परिक हथियार से लैश आदिवासी 'जान देंगे जमीन नहीं…
और पढ़े...

झारखण्ड : भाजपा सरकार ने अडाणी को दी 1700 एकड़ जमीन, विरोध में स्थानीय आदिवासियों…

झारखण्ड के गोड्डा जिले के मोतिया गांव में अडानी को पावर प्लांट के लिए दी जा रही 1700 एकड़ बहुफसलीय जमीन के…

झारखण्ड की भाजपा सरकार का एक और नया कारनामा :15 मिनट की जनसुनवाई में 1700 एकड़…

झारखण्ड के गोड्डा जिले के मोतिया गांव में अडानी पावर प्लांट को दी जा रही 1700 एकड़ जमीन के खिलाफ…

अडानी के विकास की बलि पर सरगुजा के आदिवासी

छत्तीसगढ़ के सरगुजा ज़िले के हसदेव अरण्य क्षेत्र स्थित अदानी की पर्सा ईस्ट केते बासन कोल माइन के विस्तार के लिए कल 11 सितम्बर 2016 को तय पर्यावरणीय जनसुनवाई (देखें लिंक http://www.sangharshsamvad.org/2016/08/11_28.html) सम्पन्न हुई। जनसुनवाई से पहले ही अदानी से इसे करने के लिए तरह तरह की तिकड़में रची थीं जिसमे अपने गुंडे बिठाने से लेकर गाँव…
और पढ़े...

झारखण्ड : भाजपा सरकार अडाणी को 1700 एकड़ जमीन देने को तैयार, विरोध में स्थानीय…

झारखण्ड की भाजपा सरकार ने गोड्डा जिले के मोतिया गांव में अडाणी के पॉवर प्लांट के लिए 1700 एकड़ जमीन देने की…

पेंच बांध से विस्थापित शरणार्थियों से भी बदतर जीवन जीने को मजबूर : जांच दल की…

इस तस्वीर को ध्यान से देखिए, यह तस्वीर मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में पेंच बांध से विस्थापित लोगों को बसाने के…

पेंच बांध : अडानी को मिला पानी और विस्थापितों को मिला शरणार्थियों जैसा जीवन

किसी भी परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहित करते समय सरकार प्रभावित परिवारों से हजारों तरह के वायदे करती है किंतु जब उसके जमीनी क्रियान्वयन का समय आता है तो तस्वीर कुछ और ही बन कर उभरती है। ऐसा ही एक उदाहरण है मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में बन रहे पेंच बांध के विस्थापितों का। गौरतलब है कि यह बांध किसानों से यह कर बनाया जाना शुरु किया गया था कि…
और पढ़े...