संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

उत्तराखंड में चल रहे संघर्षो की दास्तान

उत्तराखण्ड में 2013 के भूस्खलन से प्रभावित 350 गाँवो को राज्य सरकार अभी तक नहीं बसा पाई है. फिर लाखो लोगो को उजाड़ने के लिए सरकार क्यों इतनी जल्दी कर रही है. राज्य सरकार को इस हरित राज्य में गंगा, यमुना से महाकाली नदियों तक बांधो की पागल दौड़ से पहले इन सवालो का जवाब देना होगा. पढ़िए…
और पढ़े...

श्री नगर बांध आपदा : सर्वोच्च न्यायालय ने दिया उत्तराखंड मुख्य सचिव को नोटिस

2013 में आई आपदा में अलकनंदा गंगा पर बने श्रीनगर बांध कंपनी “अलकनंदा हाइड्रो पावर कंपनी लिमिटेड…

उत्तराखण्ड : विस्थापितों को गरीबी की ओर धकेलेगा पंचेश्वर बांध

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के झूलाघाट की पंचेश्वर नदी पर एक विशाल बांध बनाया जा रहा है जिसमें उत्तराखण्ड के…
उत्तराखंड के चमोली जिले में पिंडरगंगा नदी पर प्रस्तावित 252 मेगावाट के देवसारी बांध, के लिए बिना किसी तरह की पूर्व व सही सूचना दिए देवसारी बांध से प्रभावित होने वाली निजी भूमि की जनसुनवाई 20 दिसंबर, 2017 से चालू की गई। प्रशासन द्वारा जनता की आवाज को पूरी तरह नजरअंदाज करते हुए यह जनसुवनवाई मात्र…
और पढ़े...

टिहरी बांध विस्थापित बेहाल : 37 सालों में सरकारें पुनर्वास स्थलों पर पानी,…

उत्तराखण्ड में टिहरी बांध से उजड़े हजारों लोग 37 साल बाद आज भी अपने बुनियादी अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे…
आज हिमालय दिवस है। अनेक कार्यक्रमों से सरकार हिमालय बचाने का संदेश दे रही है। लेकिन हक्कीकत इससे उलटी है सरकार ने हिमालय को खत्म करने की शुरुआत कर दी । ये शुरुआत हो रही है एशिया के सबसे बड़े पंचेश्वर बांध के साथ। (देखें वीडियों) हिमालय दिवस पर माटू जनसंगठन ने ‘बांध नहीं…
और पढ़े...

हिमालय दिवस : हिमालय की जनता की पुकार, पंचेश्वर बांध में हमें क्यों डुंबो रही है…

9 सितम्बर, हिमालय दिवस के मौके पर उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी ने पंचेश्वर बांध को रद्द करने की मांग करते हुए कहा…

उत्तराखण्ड : पंचेश्वर बांध से 122 गाँव डुबोने की तैयारी

पिथौरागढ़ के जौलजिबी में शारदा या महाकाली नदी. (फोटो साभार: विकिपीडिया) उत्तराखंड में बन रहे पंचेश्वर बांध से…
हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में उतरी उतराखंड की हर राजनीतिक पार्टी ने राज्य के विकास के बड़े-बड़े दावे किए। लेकिन असल सवाल विकास का नहीं विकास के मायने का है। तमाम राजनीतिक पार्टियों द्वारा किए जा रहे इस विकास के नारे के केंद्र में दरअसल उत्तराखंड की आम जनता नहीं, बल्कि वहां के संसाधनों से…
और पढ़े...