संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

उड़ीसा

उड़ीसा : वेदांता-विरोधी आंदोलन का हौसला पस्त करने के लिए हुई कुनी सिकाका की अवैध गिरफ्तारी

उड़ीसा, नियामगिरी, 3 मई 2017; पुलिस ने कुनी सिकाका को जन-दबाव के चलते छोड़ दिया है, लेकिन इस शर्त के साथ किवह अपने पति जगिली पुसिका और ससुर डोडी पुसिका (नियमगिरि सुरक्षा समिति के नेता) और एक अन्य कार्यकर्ता गोराटा के बारे में यह बयान दे किवे माओवादी गुरिल्ला हैं और वे पुलिस के सामने समर्पण करें. यह भी लगता है कि पुलिस ने हमारे नेता डोडी पुसिका को इस…
और पढ़े...

नियमगिरि की आंदोलनकारी कुनी सिकाका की सीआरपीएफ द्वारा अवैध गिरफ्तारी : अपडेट साझा…

तत्काल सूचना व निवेदन! दबाव बनाने के लिए कृपया 06856-222304 पर एसपी-रायगढ़ कार्यालय को फोन करें। उड़ीसा के…

गृह मंत्रालय ने दिया दो आदिवासी जनसंगठनों को माओवादी होने का तमगा : ताकि संसाधनों…

गृह मंत्रालय द्वारा जारी अपनी वार्षिक रिपोर्ट में अपने प्राकृतिक संसाधनों के लिए लड़ रहे दो आदिवासी…

बिड़ला हिंडाल्को के खिलाफ 15 वर्षों से कोरापूट के आदिवासियों का बहादुराना प्रतिरोध

उड़ीसा के कोरापूट जिले के सिमलीगुड़ा तहसली में स्थित है विशाल देव माली पर्वत। देव माली पर्वत यहां के स्थानीय आदिवासियो के लिए न सिर्फ अपने बत्तीस झरनों और एक नदी से पानी, औषधि, जड़ी बूटियां और कंद-मूल उपलब्ध करवाता है। बल्कि इस पर्वत से इन आदिवासियों के अनेकों आस्थाएं जुड़ी हुई हैं। उनका मानना है कि उनके देवी-देवताओं का वास इसी पर्वत में है।…
और पढ़े...

पुलिस दमन के विरोध और जंगल जमीन पर हक के लिए नियमगिरि आदिवासियों का प्रदर्शन

उड़ीसा के नियमगिरि, तीज माली पर्वत, खंडवाल माली पर्वत इलाकों में बढ़ते पुलिस दमन और खनन के प्रभाव ने पर्वत पर निवास…

स्याह ज़िंदगी : झारसुगुड़ा में कोयला खनन का भयावह असर; देखे वीडियो

ऊर्जा की बढ़ती जरूरत और कोयला खनन के दायरों में हो रहा विस्तार न सिर्फ ओडिशा की कृषि को प्रभावित कर रहा है…

डोंगरिया कोंध आदिवासियों ने लगाई सीआरपीएफ कैम्प में आग : कहा नहीं देंगे वेदांता को नियामगिरी पर्वत

उड़ीसा के रायगढ़ जिले में नियामगिरी पर्वत तक सड़क बनाए जाने का विरोध कर रहे लगभग 100 डोंगरिया कोंध आदिवासियों ने 20 सितंबर 2016 को पैरा-मिलेट्री बल के एक अस्थाई कैम्प में आग लगा दी। ज्ञात रहे कि नियामगिरी सुरक्षा समिति के अध्यक्ष सिक्का लादो के नेतृत्व में डोंगरिया कोंध आदिवासी नियामगिरी पर्वत तक बन रही सड़क का विरोध कर रहे हैं। जिसके तहत उन्होंने…
और पढ़े...

एक बेटी की अपील : जेल में बंद पिता की रिहाई के लिए; पढ़े और शेयर करे

इस तस्वीर को ध्यान से देखिए, यह तस्वीर ओडिशा के नियमगिरि के डोंगरिया कोंध आदिवासी दसरू कडरका की बेटी का है जो…

आम हड़ताल के समर्थन में उतरे नियामगिरी के डोंगरिया कोंध आदिवासी

तस्वीरें : अमिताभ पत्रा देश भर में आज चल रही 2 सितंबर की आम हड़ताल को नियामगिरी के डोंगरिया कोंद…

महानदी : छत्तीसगढ़-ओडिशा राज्य सरकारों ने कार्पोरेटस को दी पानी लूटने की छूट

19 से 20 अगस्त 2016 तक छत्तीसगढ़-ओडिशा राज्य के महानदी के किनारे बसे हुए अलग-अलग गांवों का माकपा के एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने दौरा किया। दोनों राज्य सरकारे महानदी के किनारे बसे हुए गांव व ग्रामीण को जल के उपयोग से वंचित कर रही है। महानदी में कारखानों का प्रदूषित पानी छोड़ा जा रहा है, जिसने स्थिति को और विकराल बना दिया है। आज स्थिति यह है…
और पढ़े...