संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

उड़ीसा

उड़ीसा : वेदांता कम्पनी के खिलाफ सघर्षरत लिंगराज आजाद गिरफ्तार; 8 मार्च को उड़ीसा भवन पर प्रदर्शन

दिल्ली, 6 मार्च; उड़ीसा पुलिस द्वारा आज लिंगराज आजाद की कपटपूर्ण तरीके से की गई गैरकानूनी गिरफ्तारी की नेशनल एलायंस ऑफ पीपुल्स मूवमेंट (एनएपीएम) ने निन्दा की है। आजाद नियमगिरि सुरक्षा परिषद के नेता हैं और डोंगरिया कोंध आदिवासियों के साथ मिलकर वेदांता कंपनी के खिलाफ बहादुरी के साथ सफलतापूर्वक संघर्ष किया है। पहले तो यह बताया गया कि उन्हें एक पुराने…
और पढ़े...

सुप्रीम कोर्ट का फरमान : इक्‍कीस राज्‍यों के दस लाख आदिवासी खाली करें ज़मीन

सुप्रीम कोर्ट ने बीती 13 फरवरी को एक बेहद अहम फैसला सुनाते हुए 21 राज्‍यों को आदेश दिए हैं कि वे अनुसूचित जनजातियों…

उड़ीसा : खतरे में नियामगिरी के डोंगरिया कोंध आदिवासी; नहीं थमा अवैध गिरफ़्तारियों…

उड़ीसा के नियामगिरी क्षेत्र में डोंगरिया कोंध आदिवासियों के साथ मारपीट, झूठें आरोपों में गिरफ़्तारी, फर्जी मुकदमों…

नियमगिरि के शिखर पर डोंगरिया का वसंत-नाद : जब तक यहां वेदांता है तब तक जारी रहेगी जंग!

-ऋचा पांडे । नियमगिरि से लौटकर ओडिशा के कालाहांडी और रायगढ़ा जिलों को घेरती नियमगिरि की पहाडि़यों पर बसने वाले दुर्लभ डोंगरिया कोंढ और झरनिया कोंढ आदिवासियों ने वसंत का स्वागत एक बार फिर बहुराष्ट्री य कंपनी वेदांता की लूट के खिलाफ संकल्पक लेकर किया है। पिछले 15 साल से यहां नियमित रूप से हो रहे नियम राजा के पूजा-अर्चन पर्व ने आज से पांच साल पहले…
और पढ़े...

जल-जंगल-जमीन पर हक के लिए नियमगिरि आदिवासियों का प्रदर्शन

उड़ीसा के नियमगिरि, तीज माली पर्वत, खंडवाल माली पर्वत इलाकों में बढ़ते पुलिस दमन और खनन के प्रभाव ने पर्वत पर निवास…

नियामगिरी : अवैध गिरफ़्तारी, फर्जी सरेंडर और एनकाउंटर-कॉर्पोरेट लुट के लिए डोंगरिया…

कॉर्पोरेट लुट के लिए राज्य और वेदाांता द्वारा नियामगीरी के डोंगरिया कोंध की हत्याए और प्रताड़ना; जाँच दल की…

कॉर्पोरेट लुट के लिए राज्य और वेदांता द्वारा नियामगीरी के डोंगरिया कोंध की हत्याए और प्रताड़ना; जाँच दल की रिपोर्ट

विस्थापन विरोधी जन विकास आंदोलन के तत्वाधान में जून 2016 में नियमगिरि के अलग-अलग गांवों का एक जाँच दल ने दौरा किया । दल में मुंबई उच्च न्यायलय के भुतपूर्व न्यायाधीश बी. जी. कोळसे पाटिल, प्रशांत जेना (अधिवक्ता ओडिशा उच्च न्यायालय, कटक), प्रशांत पाईकराय (पॉस्को प्रतिरोध संग्राम समिति, ओडिशा), दामोदर तुरी (विस्थापन विरोधी जन विकास आन्दोलन, झारखंड),…
और पढ़े...

उड़ीसा : वेदांता-विरोधी आंदोलन का हौसला पस्त करने के लिए हुई कुनी सिकाका की अवैध…

उड़ीसा, नियामगिरी, 3 मई 2017; पुलिस ने कुनी सिकाका को जन-दबाव के चलते छोड़ दिया है, लेकिन इस शर्त के साथ किवह अपने…

नियमगिरि की आंदोलनकारी कुनी सिकाका की सीआरपीएफ द्वारा अवैध गिरफ्तारी : अपडेट साझा…

तत्काल सूचना व निवेदन! दबाव बनाने के लिए कृपया 06856-222304 पर एसपी-रायगढ़ कार्यालय को फोन करें। उड़ीसा के…

गृह मंत्रालय ने दिया दो आदिवासी जनसंगठनों को माओवादी होने का तमगा : ताकि संसाधनों की लूट जारी रहे

गृह मंत्रालय द्वारा जारी अपनी वार्षिक रिपोर्ट में अपने प्राकृतिक संसाधनों के लिए लड़ रहे दो आदिवासी जनसंगठन-नियामगिरी सुरक्षा समिति और विस्थापन विरोधी जन विकास आंदोलन को एनजीओ बताते हुए उन्हें माओवादियों का फ्रंट संगठन बोला गया है। केंद्र सरकार द्वारा जारी यह रिपोर्ट इस बात की तरफ स्पष्ट इशारा करती है कि अब इस देश में अपने अधिकारों और अपने…
और पढ़े...