संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

गुजरात

गुजरात : भांड भूत बैराज के विरोध में मछुआरों ने दिखाएँ मोदी को काले झंडे

- पवन यादव 8 अक्टूबर 2017 को गुजरात के भरूच जिले के मछुवारों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भाडभूत गाँव में बैराज के उद्घाटन का नावडियों द्वारा नर्मदा नदी में उतर कर काले झंडे दिखा कर विरोध किया । विरोध करने आये 250 से ज्यादा मछुवारों को पुलिस ने हिरासत में लिया । पूरी परियोजना भाडभूत गांव में नर्मदा नदी को बाधित करेगी जो…
और पढ़े...

गुजरात : सभी जिला मुख्यालयों पर अल्पसंख्यक अधिकार अभियान, 18 सितम्बर 2017

18 सितम्बर 2017, गुजरात के सभी 33 ज़िला कलेक्टर को माइनॉरिटी कोआर्डिनेशन कमिटी के बैनर तले अल्पसंख्यक समुदाय एक…

गुजरात : नर्मदा नहर का पानी उद्योगों को और किसानों को पानी की मांग के बदले लाठी

14 फरवरी 2017 को गुजरात के वीरामगाम, बावला व सनन्द, आदि 32 गावों के करीब 5000 किसानों द्वारा अपनी नर्मदा…

ज़रूरी अलर्ट सरदार सरोवर बांध : विस्थापितों ने जाम की रोड़; 150 विस्थापित आदिवासी गिरफ़्तार

21 अगस्त 2016; गुजरात के 2500-3000 हजार सरदार सरोवर विस्थापितों ने आज बांध स्थल पर जाने वाली रोड़ को वाघोडिया गाँव के पूल के पास रोक दिया है। पुलिसों ने केवडिया कॉलोनी में जारी आंदोलन से करीबन 150 आदिवासियों को गिरफ़्तार करके उन्हें पुलिस स्टेशन लेकर गई हैं। विस्थापित 15 जून 2016 से धरने पर बैठे। आज तक उन्हें कोई ठोस जवाब अधिकारियों ने नहीं दिया…
और पढ़े...

जुल्म से मुक्ति के लिए अहमदाबाद से ऊना तक पदयात्रा : देशभर के बुद्धिजीवियों,…

दलितों के विरुद्ध बढ़ते अत्याचार तथा उत्पीड़न की घटनाओं को देखते हुए उना दलित अत्याचार लडत समिति द्वारा गुजरात…

नर्मदा बांध की ऊंचाई अवैध ढंग से बढ़ी, गुजरात में 30 किमी अंदर आया समुद्र : मेधा…

सरदार सरोवर बांध को लेकर बरती जा रही अनियमितताएं एवं तानाशाही रवैया अब अपने चरम पर पहुंच चुका है। इस वर्ष अवैध…

36 साल बाद नर्मदा विस्थापितों को एक बार फिर उजाड़ने को तैयार गुजरात सरकार

सन 1980 के दौरान पहली बार नर्मदा बांध से विस्थापित मध्य प्रदेश के 19 गाँवों के आदिवासियों को अपना गाँव छोड़कर, गुजरात के जिला नर्मदा के केवाडिया कॉलोनी स्थित पुनर्वास स्थल पर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा था | इस विस्थापन से उनकी भाषा-संकृति, पर्यावरण भी प्रभावित हुआ था पर उन्होंने फिर भी अपने हकों के लिए लड़ाई जारी…
और पढ़े...

नर्मदा बांध विस्थापित गुजरात के अनशनकारियों को देश भर के जन संघर्षों का समर्थन

गुजरात के बड़ोदरा शहर के केवड़िया कॉलोनी में नर्मदा बांध विस्थापित आदिवासी पिछले 6 दिनों से क्रमिक…

जबरन भूमि अधिग्रहण, कार्पोरेट लूट और फासीवाद के खिलाफ निर्णायक जंग का एलान :देश भर…

देश में वैश्विक पूंजी के हमले की वजह से बढ़ते निरंकुश कॉर्पोरेटीकरण तथा महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रत्यक्ष…

गुजरात मॉडल की सच्चाई : आंकड़ों के फर्जीवाड़े और पसंदीदा कार्पोरेटों की लूट का मॉडल

भूमि अधिकार आंदोलन के बैनर तले चल रहे तीन दिवसीय जनसंघर्षों के राष्ट्रीय सम्मेलन के दूसरे दिन 17 जुलाई 2016 को गुजरात मॉडल की वास्तविकता पर चर्चा की गई। जिस गुजरात मॉडल को आज देश में बेचने की कोशिश की जारही है दरसल वह मॉडल आदिवासियों, दलितों और मजदूरों के हको के खून पर खड़ा है । इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गुजरात में जहां एक…
और पढ़े...