संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

महाराष्ट्र

गडचिरोली : खनन विरोधी आंदोलन के समर्थन में आये 40 देशों के जन संगठन

महाराष्ट्र के गडचिरोली जिले के सुरजागड़ क्षेत्र में 70 ग्राम सभाओं द्वारा संसाधनों की लुट और दमन के खिलाफ चल रहे जन संघर्ष को 40 से ज्यादा देशों में जमीन के अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे 70 से ज्यादा जन संगठनों ने गडचिरोली में चल रहे खनन विरोधी जन आन्दोलन को अपना समर्थन दिया है। ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, झाम्बिया, टुनीशिया, मोरिशश,…
और पढ़े...

जैतापुर परमाणु पॉवर प्लांट : फ़्रांसीसी कंपनी ने दिया एनपीसीआईएल को नया प्रस्ताव

जैतापुर परमाणु पॉवर प्लांट: फ्रांस के कंपनी ई.डी.एफ ने दिया भारतीय परमाणु ऊर्जा निगम (एनपीसीआईएल) को एक नया…

महाराष्ट्र के किसान गुजरात बॉर्डर पर गिरफ्तार : अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाने का हक…

पिछले 15 सालों से लगातार सूखे से त्रस्त और आत्महत्या करते किसान अपने हक के लिए जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री…

महाराष्ट्र के किसानों का गुजरात कूच, मोदी से अपील “खून ले लो, जान मत लो”

20 अप्रैल 2017की सुबह अमरावती (महाराष्ट्र) से चला किसानों का ये दस्ता रात में नरेंद्र मोदी (गुजरात)के गाँव वड नगर पहुंचेगा। 21 अप्रैल को लगभग 1000 किसान खून दान करेंगे और मोदी जी से कहेंगे कि “खून लेलो जान मत लो’’, “हम किसान जीना जीना चाहते हैं।” अमरावती के किसानों की यह यात्रा सूरत से 120 किलोमीटर नवगाम से वडनगर के लिए…
और पढ़े...

गडचिरौली में विस्थापन विरोधी संघर्ष को मजबूत बनाने का ऐलान

पिछले कही सालों से सरकार निजी कंपनियों द्वारा महाराष्ट्र के गडचिरोली के सुरजागड, आगरी-मसेली, बांडे, दमकोंडवाही आदि…

कबीर कला मंच के साथियों को मिली जमानत : चार साल का कारावास भी नहीं दबा पाया…

3 अप्रैल 2013 को कबीर कला मंच के सदस्य शीतल साठे और उनके पति सचिन माली को महाराष्ट्र पुलिस ने नक्सल समर्थक होने के…

महाराष्ट्र : गड़चिरौली में ग्रामसभाओं का ऐलान जीवन और संस्कृती बचाने के लिए जान देंगे पर पहाड़ नहीं देंगे

महाराष्ट्र के गड़चिरौली जिले में जहां पर एक दर्जन से ज्यादा खदानें प्रस्तावित हैं। इन खदानों की वजह से उस इलाके के हजारों परिवारों पर बेघर होने का खतरा मंडरा रहा है साथ ही साथ वहां के पर्यावरण के नष्ट होने का खतरा भी है। इन खदानों का स्थानिक जनता जोरदार विरोध कर रही है। लोगो को बहकाने की, उन्हें खरीदने की हर एक कोशिश विफल होती देख विरोध करती जनता…
और पढ़े...

गढ़चिरोली विनाश की ओर : स्थानीय समुदायों का पुरजोर विरोध

देश के आदिवासी इलाकों में जमीन के नीचे दबी खनिज संपदा को विकास के नाम पर कॉर्पोरेट शक्तियों के हाथों में सौंपने का…

शांति समानता और जनवाद के नारे पर आधारित होगी समाजवादी एकजुटता : 21-22 अक्टूबर 2016…

मुंबई | अक्टूबर 18, 2016 पिछले एक सालभर में देश में तथा महाराष्ट्र में जो घटित है, उससे हमारा देश, समाज तथा…

जबरन अवैध खनन के लिए गडचिरोली, महाराष्ट्र के आदिवासियों पर बर्बर हिंसा

इस पूंजीवादी-साम्राज्यवादी-फ़ासीवादी लुट का विरोध करे.. ‘मेक इन इंडिया’, ‘मेक इन गडचिरोली’ के झूठे वादों का और अमीर कंपनियों की दलाली करने वाले नीतियों का विरोध करे... सिर्फ एक-दो को रोजगार के झूठे वादों में फ़सने की जगह स्थानिक संसाधनों पर आधारित पर्यावरण पूरक रोजगार निर्माण के लिए संघर्ष करे... पर्यावरण की रक्षा कर.. शास्वत रोजगार निर्माण कर...…
और पढ़े...