संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

राजस्थान

संविधान बचाओ-देश बचाओ सम्मेलन संपन्न

-बसन्त हरियाणा 8 फरवरी 2018। जयपुर में विनोबा ज्ञान मन्दिर में संवैधानिक अधिकार संगठन द्वारा संगठन के अध्यक्ष धर्मेंद्र तामडिया की अध्यक्षता मे संविधान बचाओ-देश बचाओ सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन की जानकारी देते हुए संगठन के उपाध्यक्ष बसन्त हरियाणा ने जानकारी देते हुए बताया कि इस अवसर पर राजस्थान के विभिन्न जिलों से आये संगठन के…
और पढ़े...

राजस्थान : कर्ज मुक्ति पर किसानों का सम्मेलन, किसान विरोधी बजट की प्रतियाँ 12 से…

-बसन्त हरियाणा 7 फरवरी 2018 को कुमारानंद भवन जयपुर में देश भर के 192 किसान संगठनों के अखिल भारतीय किसान…

राजस्थान : पेड़ों से उल्टा लटक किसान कर रहे प्रदर्शन, सरकार नहीं दे रही फसलों के…

बीते रविवार को राजस्थान के बूंदी ज़िले के छापड़दा गांव में फसलों के लिए पानी की मांग को लेकर किसानों ने पेड़ों…

किसान सिंचाई आंदोलन : किसानों ने प्रशासन को दी 10 फ़रवरी तक की मोहलत

श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ एटा-सिंगरासर माइनर नहर आंदोलन में पूर्व घोषणा के अनुसार 54 गांवों के किसानों ने 5 फ़रवरी को थर्मल के मुख्य द्वार से एक किलोमीटर दूर पर सभा की. थर्मल परियोजना के एक किलोमीटर दायरे में धारा 144 भी लागू थी. इसके साथ ही थर्मल कॉलोनी सहित प्रभात नगर में भी निषेधाज्ञा लागू थी. किसान प्रभात नगर में धारा तोड़ते हुए प्लांट…
और पढ़े...

एटा-सिंगरासर माइनर नहर आंदोलन : थर्मल पॉवर स्टेशन का घेराव करने निकले 54 गांवों के…

राजस्थान के श्रीगंगानगर में एटा सिंगरासर माइनर नहर निर्माण की मांग को लेकर एक बार फिर टिब्बा क्षेत्र के ग्रामीण…

2709 दिनों से जारी है बांगड़-बिरला के खिलाफ धरना : योगेंद्र यादव व प्रशांत भूषण…

राजस्थान, नवलगढ़ 29 जनवरी 2018। भूमि अधिग्रहण विरोधी किसान संघर्ष समिति की ओर से गोठड़ा में किसानों की बैठक…

वागड़ मजदूर किसान संगठन का 19वां गांव गणराज्य सम्मेलन : प्राकृतिक संसाधनों पर गांव सभाओं का मालिकाना हक सुनिश्चित हो

23-24 दिसंबर 2017 को वागड़ मजदूर किसान संगठन ने अपने 19वें गांव गणराज्य सम्मेलन का डुंगरपुर, राजस्थान में आयोजन किया। सम्मेलन में आए विभिन्न गांव सभाओँ की कमेटियों अपने कामों का ब्यौरा देते हुए अपने संकल्प को दोहराया कि हमारे प्राकृतिक संसाधनों पर हमारा मालिकाना हक हम लेकर रहेंगे। सम्मेलन में आए विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा नेतृत्वकारी…
और पढ़े...

मामा बालेश्वर दयाल स्मृति यात्रा का तीसरा दिन : 26 दिसम्बर को बामनिया में समापन

हज़ारों अनुयायियों के द्वारा की जा रही मामा बालेश्वर दयाल स्मृति यात्रा का आज तीसरा दिन 1965 में…

10वां दिन : गर्दन तक जमीन में दबे है नीदड़ के किसान

राजस्थान की राजधानी जयपुर स्थित विधानसभा से कोई बीस किलोमीटर दूर नींदड़ गाँव के किसान पिछले 10 दिनों से…

राजस्थान : किसानों को न्यायलय भी कर रहा है गुमराह; 6 अक्टूबर के पत्रिका में दिए विज्ञापन में किसानों को 8 सितम्बर 2017 को किया तामिल

देश में सरकारे, मिडिया, कोर्पोरेटस और न्यायालय किस तरह मिल कर किसानों की जमीने हड़प रहे है इसका एक नमूना राजस्थान के झुंझुनू जिले में सामने आया है। 6 अक्टूबर 2017 को जिला एवं सेशन न्यायालय झुंझुनू की और से राजस्थान पत्रिका के झुंझुनू एडिशन में गोडड़ा गाँव के 180 किसानों को 8 सितम्बर 2017 को सेशन न्यायालय झुंझुनू में उपस्थित होने का आदेश छपा है।…
और पढ़े...