संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad

छत्तीसगढ़ : नौकरी के वायदे के नौ साल बाद मिली तो पुलिस की लाठी -गोली

-तामेश्वर सिन्हा छत्तीसगढ़। बस्तर(कांकेर )- रावघाट रेल परियोजना के तहत रेलवे प्रभावित किसान वादा के मुताबिक नौकरी नहीं दिए जाने कि लेकर पिछले 11 दिनों से रेल पटरी पर बैठ कर हक के लिए आन्दोलन कर रहे थे लेकिन किसानो को जबरिया बल पूर्वक गिरफ्तार कर आस्थाई जेल में डाल दिया गया। गुरुवार दोपहर को फ़ोर्स ने अचानक सभी आन्दोलनकारी किसानो को बल पूर्वक…
और पढ़े...

छत्तीसगढ़ के आदिवासियों ने सम्मेलन कर सरकार को चेताया : बहुत हुआ विनम्र निवेदन अब…

रायपुर 19 फ़रवरी 2018 - जल, जंगल, जमीन की लड़ाई, संवैधानिक अधिकारों के हनन, अनुसूचित क्षेत्रो में बढ़ते संवैधानिक…

सुपेबेड़ा गाँव के आदिवासी गंदा पानी पीने को मजबूर 58 की मौत : छत्तीसगढ़ सरकार,…

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के सुपेबेड़ा गाँव से एक किमी की दूरी पर हीरा खदान है। सरकार ने 2005 से पूरे इलाके को…

बस्तर बुमकाल विद्रोह : आज भी जिंदा है गुण्डाधुर का संघर्ष आदिवासी परंपरा में

छत्तीसगढ़, बस्तर 10 फ़रवरी 2018। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम 1910 की महान बस्तर बुमकाल विद्रोह के अमर नायक क्रांतिकारी गुण्डाधुर का 108 वां बुमकाल दिवस कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा अन्तर्गरत देव स्थल उसेह मुदिया में मनाया गया। कोयलीबेड़ा, कागबरस से लौट कर तामेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट; 8 फरवरी 2018 से शुरू होकर तीन दिन 10 फरवरी तक बुमकाल दिवस मनाया गया। जहां…
और पढ़े...

11 दिन बाद राजकुमार जेल से रिहा : वेदांता सोना खान से बारनवापारा अभ्यारण खतरे में,…

छत्तीसगढ़, बलौदाबाजार, 4 फ़रवरी 2018। 11 दिन से जेल में बन्द बारनवापारा अभयारण्य क्षेत्र के ग्राम रामपुर निवासी…

छत्तीसगढ़ : जल-जंगल-जमीन और पर्यावरण की रक्षा के लिए साझे संघर्ष का आह्वान

रायपुर आदिवासी भारत महासभा (ए.बी.एम) का अखिल भारतीय सम्मेलन छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के वीर नारायणसिंह हॉल,…

छत्तीसगढ़ : आदिवासियों पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ तीन दिवसीय सम्मेलन शुरू

रायपुर- छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के गोंडवाना भवन टिकरापारा में 02 फरवरी 2018 से 04 फरवरी 2018 तक आदिवासी भारत महासभा (ए.बी.एम) का अखिल भारतीय सम्मेलन के प्रथम दिन 02 फरवरी को गोंडवाना भवन से रैली निकाली गई जो टिकरापारा, कालीबाडी होते हुए बुढ़ातालाब धरना स्थल पर आमसभा में परिवर्तित हुई। इस रैली में देश भर से आए 300 से ज्यादा सदस्यों ने भाग लिया और…
और पढ़े...

छत्तीसगढ़ सरकार की तानाशाही चरम पर : वेदांता कम्पनी को 1300 एकड़ वनभूमि व स्थानीय…

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिला स्थित बारनवापारा अभ्यारण क्षेत्र से लगी 1300 एकड़ भूमि को भाजपा सरकार ने वेदांता कम्पनी…

हीरा निकालने के लिए ग्रामीणों को मारने की साज़िश : एक साल में 11 आदिवासियों की मौत

रायपुर। 2010 में त्रिविक्रम श्रीनिवास के प्रोडक्शन में बनी साउथ की फ़िल्म ‘कलेजा’ आई थी। इसमे अमूल्य खनिज संपदा…

आदिवासी संघर्ष की जीत : छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक रद्द

रायपुर/बस्तर। छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक को सरकार ने वापस लेने का फैसला किया है। ये फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया गया। छत्तीसगढ़ सरकार ने यह कदम आदिवासी समाज के बढ़ते विरोध के मद्देनजर उठाया है। कैबिनेट की बैठक से पहले सर्व आदिवासी समाज ने मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से मुलाक़ात कर इसे वापस लेने की मांग की थी। आदिवासी समाज का कहना था कि यह…
और पढ़े...