संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

दिल्ली

जमीन अधिग्रहण के लिए सरकारी दबाव से डरें नहीं : जवाब में उठाए जा सकते हैं यह कदम

जब आप अपनी जमीन बचाने के लिए संघर्ष कर रहे होते हैं और प्रशासनिक अधिकारी या पुलिस अधिकारी आपके ऊपर जमीन अधिग्रहण के लिए दबाव बनाएं या धमकी दें कि आपके नाम पर मुकदमा दर्ज किया जा सकता है तब आप क्या करें? पढ़ें एसी प्रवीन कुमार भगत की रिपोर्ट; सबसे पहले तो आप बिल्कुल भी न डरें। निडर होकर उनके FIR लिखने से पहले आप प्रशासनिक अधिकारी या…
और पढ़े...

हंसी में उलझा रहा देश और 12 परमाणु रिएक्टरों को मिली तबाही लाने की मंजूरी

बीते 7 फरवरी को जिस वक्‍त संसद में प्रधानमंत्री रामायण सीरियल की याद कर के कांग्रेसी नेता रेणुका चौधरी की टिप्‍पणी…

किसान विरोधी बजट की प्रतियां 12 से 19 फरवरी के बीच जलाने की अपील

नयी दिल्ली, 7 फ़रवरी 2018। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने केन्द्रीय बजट 2018 में किसानों की समस्या हल न किए जाने के विरोध में 12 से 19 फरवरी के बीच तहसील स्तर पर उसकी प्रतियां जलाने की अपील की है। केन्द्र सरकार ने बजट में केवल खोखली घोषणाएं करके किसानों की मांगों पर बयान दर्ज किया है। किसान स्वामीनाथन आयोग के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य…
और पढ़े...

बजट में समर्थन मूल्य संबंधी घोषणाएं किसानों को गुमराह करने वाला सफेद झूठ; किसान…

दिल्ली 6 फरवरी 2018। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले आज प्रेस वार्ता हुई है। बजट में समर्थन…

बजट 2018 : मोदी के न्यू इंडिया में बढ़ेगा किसान पर संकट

-डॉ सुनीलम किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष ,जनांदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय के राष्ट्रीय संयोजक ,पूर्व…

दिल्ली में किसान मुक्ति संसद : देश भर के किसान कर्ज माफी को लेकर एकजूट

आज दिल्ली में देश भर के किसान अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले जुटे हैं। करीब…

किसान मुक्ति यात्रा का चौथा चरण समाप्त : 20 नवंबर को किसान मुक्ति संसद दिल्ली में

18 राज्यों में 10 हज़ार किलोमीटर की किसान मुक्ति यात्रा का चौथा चरण समाप्त किसान एकजुटता की नई…

किसान मुक्ति संसद : 20 नवंबर को दिल्ली में जुटेंगे देश भर के किसान

देश भर में हो रहे किसान मुक्ति यात्रा का तीसरा चरण बिहार, उत्तर प्रदेश, और उत्तराखंड की यात्रा के बाद सम्पन्न हुआ। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति (AIKSCC) का गठन देश भर के 180 से अधिक किसान संगठनों के मिलने से हुआ है। स्वराज अभियान का "जय किसान आंदोलन" भी इसका सदस्य है। "किसान मुक्ति यात्रा" कार्यक्रम के तहत AIKSCC अब तक के तीन चरणों में…
और पढ़े...