संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad

गुजरात : पेप्सिको विवाद और कांट्रेक्ट फार्मिंग

-गिरिश मालवीय नील की खेती याद है आपको!, 1917 का चंपारण आंदोलन जिसने मोहनदास करमचंद गांधी को महात्मा गाँधी बना दिया था वह नील की खेती से ही जुड़ा हुआ आंदोलन था, बिहार में अंग्रेजी सरकार किसानों से जबर्दस्ती नील की खेती करने को बाध्य करती थी ..........अब गोरे अंग्रेज चले गए और अब काले अंग्रेजों का शासन आ गया है अब स्वतंत्र भारत मे मोदी सरकार नील की…
और पढ़े...

उड़ीसा का एक ऐसा गांव जिसका हर निवासी जी रहा है किडनी रोग के साए में; भाग दो

उड़ीसा का एक ऐसा गांव जिसका हर निवासी किडनी रोग के साए में जी रहा है। हम यहां पर रंजना पाढी तथा राजेन्द्र सिंह नेगी…

किडनी रोग के गिरफ्त में उड़ीसा का गंजाम जिला : मोनाजाइट खनन शक के दायरे में; भाग एक

उड़ीसा के गंजाम जिले के तटीय क्षेत्र में भारत सरकार का मोनाजाइट प्लांट इस इलाके में रह रहे ग्रामीणों में फैल रहे…

उड़ीसा : कॉर्पोरेट लुट के लिए राज्य और वेदांता द्वारा नियामगीरी के आदिवासियों की हत्याए और प्रताड़ना; जाँच दल की रिपोर्ट

यौन हिंसा व दमन के खिलाफ महिलाएँ (WSS) द्वारा गठित, महिला अधिकारों के लिए काम करने वाली छः एक्टिविस्टों की, एक फैक्ट फाइंडिंग टीम ने 24 मार्च से 26 मार्च, 2019 तक चले अपने दौरे में पाया है कि उड़ीसा के नियमगिरि और लांजीगढ़ क्षेत्र में आदिवासी और दलित समुदायों के अधिकारों का हनन और राज्य का दमन लगातार जारी है। जांच दल ने इस दौरे के दौरान बहुत से ऐसे…
और पढ़े...

अडानी के लिए रमन के रास्ते पर भूपेश सरकार : अडानी के लिए बंदूक की नोक पर जबरन भूमि…

छत्तीसगढ़ के सरगुज़ा जिले के परसा कोल ब्लॉक जिसका खनन का ठेका( mdo) अडानी कंपनी के पास हैं, के लिए नियम विरुद्ध जबरन…

जनांदोलनों पर राज्य का कसता शिंकजा : अर्थशास्त्री तथा सामाजिक कार्यकर्ता ज्यां…

नई दिल्ली। प्रसिद्ध अर्थशास्त्री और सामाजिक कार्यकर्ता ज्यां द्रेज को झारखंड पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। यह…

उड़ीसा : विकास का स्याह चेहरा; नौकरी मांगने गए आदिवासियों पर वेदांता ने चलवाई लाठी गोली

अभी हाल ही में हमारे देश में पाकिस्तान के साथ जंग को समर्थन देकर अपनी देशभक्ति साबित करने की लहर सी चल रही थी। लेकिन यह लहर अपने ही देश में किसानों-मजदूरों- आदिवासियों के साथ हमारे कार्पोरेट समर्थक सरकार की जंग को लेके चुप्पी साध जाती है। इस जंग की सबसे ताजा वारदात घटी आज ओडिशा के कालाहांडी जिले के लांजीगढ़ में जहां वेदांता के प्लांट के लिए अपनी…
और पढ़े...

उड़ीसा : कालाहांडी से दिल्ली तक उठी आवाज़ लिंगराज आज़ाद को रिहा करो

पैरों में चप्पल बगल में झोला और सांवला सा भोला चेहरा ये हैं लिंगराज भाई यानी की नियामगिरि सुरक्षा समिति के जुझारू…

उड़ीसा : वेदांता कम्पनी के खिलाफ सघर्षरत लिंगराज आजाद गिरफ्तार; 8 मार्च को उड़ीसा…

दिल्ली, 6 मार्च; उड़ीसा पुलिस द्वारा आज लिंगराज आजाद की कपटपूर्ण तरीके से की गई गैरकानूनी गिरफ्तारी की नेशनल एलायंस…

आदिवासियों की बेदखली का फरमान और जमीन की कारपोरेटी लूट

-सीमा आज़ाद 20 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में 13 फरवरी को दिया गया एक ऐसा फैसला जंगल में आग की तरह फैला, जिसने लोगों को स्तब्ध कर दिया। यह एक ऐसा फैसला था, जिसके सुनाये जाते समय पीड़ित पक्ष अदालत में मौजूद ही नहीं था। यह फैसला था- देश के 17 राज्यों के वन क्षेत्रों में बसे 10 लाख से ज्यादा आदिवासियों को 24 जुलाई 2019 के पहले उजाड़ने का। फैसले के अनुसार ये…
और पढ़े...