संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad

राजस्थान : जिंदा मक्खी निगलने को मजबूर कुतुबपुरा के निवासी; कान में तेल डालकर बैठा प्रशासन

मनदीप पुनिया / जितेंद्र चाहर राजस्‍थान में शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है और झुंझनूं जिले की एक एक पंचायत में महीने भर से धरने पर बैठे लोगों ने चुनाव का बहिष्‍कार करने का नारा दे दिया है क्‍योंकि उनकी जिंदगी मक्खियों ने तबाह कर दी है। अफसरों से लेकर नेताओ तक सबसके चक्‍कर लग चुके हैं लेकिन कुतुबपुरा के लोग अब भी जिंदा मक्‍खी निगलने…
और पढ़े...

किसान मुक्ति मार्च : AIKSCC ने जारी किया भारतीय किसानों का घोषणापत्र

भारतीय किसानों का घोषणापत्र अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति द्वारा आयोजित ऐतिहासिक किसान मुक्ति मार्च के…

उत्तराखण्ड : संगीनों के साए में जखोल साकरी बांध परियोजना की जनसुनवाई

उत्तरकाशी 28 नवम्बर 2018। उत्तराखंड के छोटे से मोरी ब्लॉक में आज बैरिकेडिंग थी और बड़ी मात्रा में पुलिस थी। नजारा…

सावधान मोदी सरकार! किसान आ रहे हैं : कृषि विरोधी नीतियों के खिलाफ देश भर के किसानों के दिल्ली कूच 29-30 नवंबर का समर्थन करें

29 नवम्बर के मार्च में शामिल किसानों का अभिनंदन करो 30 नवम्बर को संसद मार्ग पर किसान रैली में शामिल हों दिल्ली 27 नवम्बर 2018। विशाल कृषि संकट और केवल उससे जुड़े मुद्दों पर ही विचार-विमर्श करने के लिए संसद का तीन-साप्ताही विशेष सत्र बुलाओ। इससे पिछले 20 वर्षों में 3 लाख से ऊपर किसानों की हत्या जुड़ी इस ज्वलंत समस्या पर राष्ट्र का ध्यान केन्द्रित…
और पढ़े...

झारखण्ड : जेलों में दम तोड़ती प्राकृतिक संसाधनों से वंचित जिंदगियां

-स्टेन स्वामी अधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल (Amnesty International) ने जुलाई 2017 की रिपोर्ट में कहा था कि उनके…

गुजरात : जान देंगे जमीन नहीं के नारे के साथ अल्ट्राटेक द्वारा जबरन अधिग्रहित 1500…

-नीता महादेव गुजरात 17 अक्टूबर 2018। भावनगर जिले के महुवा तहसील के 13 गांवों की 1500 हेक्टेयर जमीन अल्ट्राटेक…

मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ देश भर के किसानों का दिल्ली कूच 29-30 नवंबर 2018

नई दिल्ली. 2014 के लोकसभा चुनाव में वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी भाजपा ने देश के किसानों से कर्ज माफी और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुरूप फसलों का डेढ़ गुना दाम देने का वायदा किया था. यही नहीं उन्होंने देश के लोगों को अच्छे दिन लाने का वायदा भी किया था. पर अपने साढे चार साल के शासन में इस सरकार ने न सिर्फ देश के किसानों के…
और पढ़े...

उत्तराखण्ड : हाथियों के लिए बनेगा कॉरिडोर; विरोध में पदयात्रा शुरू 26 दिसम्बर को…

-कैलाश पाण्डेय हल्द्वानी। उत्तराखण्ड सरकार हाथियों की सुरक्षा के नाम पर हाथी कॉरिडोर का निर्माण करने जा रही है। इस…

झारखण्ड : पांचवी अनुसूची, सीएनटी-एसपीटी एक्ट पर हो रहे हमलों के खिलाफ 21 नवम्बर को…

आज पूरे झारखण्ड के आदिवासी कोर्पोरेट लूट से भयभीत है, पलामू-लातेहार, गुमला जिला के ग्रामीण प्रस्तावित नेतरहात फील्ड…

राज्य सुरक्षा के नाम पर लोकतांत्रिक विरोध की गुंजाइश को खत्म करना बहुत ही खतरनाक है : राष्ट्रीय एकजुटता सम्मेलन

रायपुर 31 अक्टूबर 2018। छत्तीसगढ़ के जन आंदोलनों पर बढ़ते राजकीय दमन के खिलाफ राष्ट्रीय एकजुटता सम्मलेन का आयोजन 31 अक्टूबर को किया गया सम्मेलन में चर्चा हुई कि देश में जैसे-जैसे सामाजिक आर्थिक संकट गहराता जा रहा है, इन संकटों से प्रभावित हिस्सों पर राजकीय दमन भी बढ़ते जा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य जो नैसर्गिक और खनिज संसाधनों में देश के संपन्नतम…
और पढ़े...