संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

राज्यवार रिपोर्टें

दमन, साजिशों से जूझते कलिंगनगर के आंदोलनकारी आदिवासी

राज्य के दमन (पुलिस ज़ुल्म) एवं टाटा कंपनी के गुंडों (स्थानीय बीजू जनता दल के नेता एवं कार्यकर्ता) के हमले का कंपनी विरोधियों द्वारा सामना। राज्य एवं कंपनी के आतंक के कारण कंपनी विरोधी आंदोलनकारी रात में ही निकलते हैं लोगों से संपर्क करने। आतंक एवं अत्याचार का यह आलम की कंपनी विरोधी आंदोलनकारी अस्पताल या डाक्टर के पास इलाज कराने जाते…
और पढ़े...

जैतापुर परमाणु ऊर्जा परियोजना : विरोध में एकजुट होते लोग

वृहत मुम्बई और राज्य में विद्युत समस्या हल करने के उपाय के तौर पर राज्य सरकार ने फ्रांस की मदद से जैतापुर में…

साक्षात्कार : कुमार चन्द मार्डी

हम लगातार संघर्ष कर रहे हैं। दमन, उत्पीड़न, गिरफ्तारियां तथा फर्जी मुकदमें हमें डिगा नहीं सकते। हम जनवरी 2011 से बड़े पैमाने पर न्यायाग्रह आंदोलन करने जा रहे हैं। पू. सिंहभूम के जमशेदपुर तथा पोटका प्रखण्ड में भूषण एवं जिंदल की स्टील एवं ऊर्जा परियोजनाओं के खिलाफ अपने वन, नदी तथा पहाड़ और जीवन बचाने के लिए हम संघर्षरत हैं। इन कम्पनियों ने कुछ…
और पढ़े...

गोरखपुर में प्रस्तावित परमाणु ऊर्जा संयन्त्र के खिलाफ संघर्षरत किसान

भारत में साफ, सुरक्षित एवं सस्ती तथा समुचित बिजली आपूर्ति की बातें जोरशोर से सरकार तथा तंत्र द्वारा प्रचारित करते…

हिमाचल हाईकोर्ट की ग्रीन बैंच ने सुंदरनगर सीमेंट प्लांट रद्द किया

दिनांक 13 दिसंबर 2010 को हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के स्पेशल हरित बैंच ने सुंदरनगर सीमेंट प्लांट जिला मंडी की पर्यावरण…

रेणुका बांध के खिलाफ संघर्ष जारी है. . . .

दिनांक 15 दिसंबर 2010 को हिमाचल प्रदेश के रेणुका, सिरमौर में जबरदस्ती भू-अधिग्रहण के खिलाफ स्थानीय लोगों के विरोध के बावजूद हिमाचल प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) तथा राजस्व विभाग ने भूमि अधिग्रहण कानून 1894 के सेक्शन 9 के तहत  रेणुका बांध परियोजना के लिए पनार गांव की 680 बीघा जमीन (लगभग 57 हैक्टेयर) को अधिसूचित कर दिया। रेणुका बांध संघर्ष समिति…
और पढ़े...

राष्ट्रीय सम्मेलन : परमाणु हथियार मुक्त दुनिया की ओर

परमाणु निःशस्त्रीकरण एवं शांति गठबंधन (सी.एन.डी.पी.) की तरफ से अपनी स्थापना की 10वीं वर्षगांठ के मौके पर 10 से 12 दिसंबर 2010 को दिल्ली के कान्स्टीट्यूशन क्लब के लॉन में ‘परमाणु हथियार मुक्त दुनिया’ के विषय पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में परमाणु ऊर्जा संयंत्रों, परमाणु के खतरों तथा शांति के लिए संघर्षरत भारत के विभिन्न…
और पढ़े...