संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

अवैध खनन विरोधी आंदोलन

प्राकृतिक संसाधन के असीमित लूट की हवस का परिणाम है ललमटिया खदान हादसा

झारखंड के गोड्डा जिलान्तर्गत कोल इंडिया के सहायक कंपनी इसीएल की राजमहल परियोजना के ललमटिया में भोड़ाय कोल माइंस साइट में 29 दिसंबर 2016 की रात में खदान धंसने से हाहाकार मच गया। 30 दिसंबर को डीजीपी व मुख्य सचिव जिस जगह पर खड़े होकर मुआयना कर रहे थे, वहां नीचे मलबे में 41 कर्मी और मशीनें दबी हुई थी। रेस्क्यू टीम के द्वारा लगातार मलबा हटाने के बाद…
और पढ़े...

गढ़चिरोली विनाश की ओर : स्थानीय समुदायों का पुरजोर विरोध

देश के आदिवासी इलाकों में जमीन के नीचे दबी खनिज संपदा को विकास के नाम पर कॉर्पोरेट शक्तियों के हाथों में सौंपने…

छत्तीसगढ़ में अवैध खनन की बहार : पर्यावरण का विनाश, ओवरलोडेड गाड़ियों से कुचलती…

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के तमनीर तहसील के ग्रामवासी लंबे समय से क्षेत्र में चल रहे अवैध कोयला खनन से आक्रोशित…

स्याह ज़िंदगी : झारसुगुड़ा में कोयला खनन का भयावह असर; देखे वीडियो

ऊर्जा की बढ़ती जरूरत और कोयला खनन के दायरों में हो रहा विस्तार न सिर्फ ओडिशा की कृषि को प्रभावित कर रहा है बल्कि उसके पर्यावरण को भी नष्ट कर रहा है। नीचे दिया गया विडियो ओडिशा की संकटपूर्ण स्थिति की गंभीरता को दर्शा रहा है। ओड़ीशा के झारसुगुढ़ा जिले के लखनपुर ब्लॉक के ओबडा गांव के 56 वर्षीय निवासी इंदर बिलास शाह ने चिंतित स्वर में बताया कि…
और पढ़े...

छत्तीसगढ़ के गारेगांव में कोयला सत्याग्रह : एक इंच भी जमीन कोल माइनिंग के लिए नहीं…

छत्तीसगढ़ के तमनार ब्लॉक के गारे गांव में पिछले पांच साल से लगातार हर साल गांधी जयंती के दिन कोयला सत्याग्रह…

जबरन अवैध खनन के लिए गडचिरोली, महाराष्ट्र के आदिवासियों पर बर्बर हिंसा

इस पूंजीवादी-साम्राज्यवादी-फ़ासीवादी लुट का विरोध करे.. ‘मेक इन इंडिया’, ‘मेक इन गडचिरोली’ के झूठे वादों का…

राजस्थान : बेखौफ अवैध खनन, माफियाओं के खिलाफ खान सुरक्षा महानिदेशालय पर प्रदर्शन

अजमेर, 30 अगस्त। खान सुरक्षा नियमों की परवाह किये बिना बेखौफ अवैध खनन व विस्फोटों से कोटपुतली तहसील के गॉव शुक्लावास, पिंचाणी, पवाना (अहीर) कल्याणपुरा, फतेहपुरा, रूपपुरा (स्थल), ढाणी चोक्या (बुचारा) आदि क्षेत्रों की सभी खानों के आबादी क्षेत्र में संचालित होने तथा हैवी ब्लास्टिंग व हैवी अर्थमूवर्स से जन-जीवन अस्त-व्यस्त बना हुआ है। हैवी…
और पढ़े...

छत्तीसगढ़ : आदानी की खदान का वनभूमि डायवर्सन निरस्त होने के बावजूद 11 सितम्बर को…

देश आज उस मुहाने पर खड़ा है जहां या तो जंगल बचाने वाले आदिवासी बचेंगे, या जंगलराज लाने वाले कारपोरेट. देश का…

‘मेक इन इंडिया’ का धौखा : राष्ट्रीय सेमिनार, 29 अगस्त 2016, नागपुर,…

'मेक इन इंडिया' में औद्योगिक गलियारे , 'स्मार्ट सिटी' परियोजना, डिजिटल भारत और स्टार्ट अप इंडिया का सपना…

रायगढ में खदानों के खिलाफ ग्रामीणों का चक्का जाम

डॉ लाखन सिंह ने जानकारी दी है कि छत्तीसगढ़ के रायगढ जिले के तमनार के मुख्य मार्ग पर 11 जुलाई 2016 से नियम विरुद्ध चल रही खदानों के खिलाफ ग्रामीणों ने चक्का जाम किया हुआ है, भारी बरसात में महिलायें अपने बच्चों के साथ छाता लेके खड़ी हुई है. रात भर हजारों ट्रक जाम में फंसे रहे. प्रशासन से नायब तहसीलदार और पुलिस टीआई मौके पर पहुचे…
और पढ़े...