संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

हरियाणा

मारूति मजदूरों के आन्दोलन पर सरकारी दमन

जल-जंगल-जमीन की रक्षा के लिये चल रहे संघर्षों में जिस तरह संघर्षरत जनता और उनके समर्थकों को चुन-चुन कर पकड़ा जाता है या मार दिया जाता है उसी तर्ज पर हरियाणा में भुपेन्द्र हुड्डा की सरकार शांति पूर्वक धरने पर बैठे मजदूरों को ही नहीं बल्कि उनके परिवार तथा उन्हें समर्थन दे रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों को भी चुन-चुन कर गिरफ्तार कर…
और पढ़े...

प्रधानमंत्री हरियाणा में सूखी नहर के किनारे रखेंगे परमाणु संयंत्र की आधारशिला !

जिस नहर के पानी के सहारे ये रिएक्टर दिल्ली से महज एक सौ पचास किलोमीटर दूर लगाया जा रहा है, उस नहर में पिछले…

मारूति सुजुकी के मज़दूरों के समर्थन में लखनऊ में उठी आवाज़

भारी ठंड और बारिश को धता बताते हुए विभिन्न जन संगठनों के प्रतिनिधि मारूति सुजुकी के संघर्षरत मज़दूरों के समर्थन में गुज़री 5 फरवरी को लखनऊ के जीपीओ पार्क स्थिति गांधी प्रतिमा पर जुटे और उन्होंने मज़दूरों के पक्ष में इंसाफ़ की आवाज़ उठायी। याद रहे कि मानेसर (गुड़गांव, हरियाणा) स्थित मारूति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड के मजदूर पिछले साल की 18 जुलाई से…
और पढ़े...

गोरखपुर: किसानों का एलान, जान देगें- जमीन नहीं

भूमि अधिग्रहण का विरोध : पैदल मार्च कर किसानों ने गीडा कार्यालय में जड़ा ताला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के गीडा…

हरियाणा में परमाणु ऊर्जा के विरोध में पहुंचे पूर्व-सेनाध्यक्ष वी.के.सिंह

31 जुलाई को हरियाणाके फतेहाबाद में चल रहे परमाणु पावर प्लांट-विरोधी आंदोलन को समर्थन देने दिल्ली से पूर्व…

मारुति, मीडिया और खाप पंचायत के बीच मजदूर: बदहाल भी बदनाम भी

बंदूकों, बाउंसरों और खाप पंचायतों के खौफ तले मारुति के मानेसर प्लांट में उत्पादन शुरू होने वाला है. हालिया दुखद घटनाक्रम को बहाना बनाकर मजदूरों की आवाज़ हमेशा के लिए कुचलने की तैयारी कामयाब होती दिख रही है. मारुति के मजदूर आंदोलन पर सुनील की एक रिपोर्ट: मारूति सुजुकी के मानेसर कारखना में पिछले एक साल में मजदूरों ने तीन बार हड़तालें कीं। मारूति…
और पढ़े...

मानेसर के बाद बावल में बवाल: ज़मीन के मुद्दे पर पुलिस और किसानों में ठनी

गोरखपुर में भी सुलग रहे हैं हालात हरियाणा के ही फतेहाबाद जिले में प्रस्तावित गोरखपुर परमाणु पावर प्लांट के खिलाफ चल…

रेवाड़ी में भूमि अधिग्रहण के विरोध में महापंचायत कल

भूमि अधिग्रहण विरोधी संघर्ष समिति ने रेवाड़ी में भूमि अधिग्रहण के विरोध में 22 जुलाई को राष्ट्रीय…

हरियाणा में किसानों ने परमाणु ऊर्जा को नकारा, फर्जी जनसुनवाई हुई बेनकाब

17 जुलाई को फतेहाबाद जिले के गोरखपुर गाँव में आयोजित जनसुनवाई शुरू होने के चालीस मिनट के अंदर ही ग्रामीणों के विरोधस्वरूप बंद कर दी गयी और इसमें शामिल अफसर भाग खड़े हुए. यह जनसुनवाई प्रस्तावित गोरखपुर परमाणु परियोजना के पर्यावरणीय प्रभावों के मूल्यांकन पर बहस के लिए रखी गयी थी. पर्यावरणीय जनसुनवाइयों के आयोजन के लिए ज़रूरी हर कानूनी और…
और पढ़े...