संघर्ष संवाद
Sangharsh Samvad
.

किसान आंदोलन

बजट 2018 : मोदी के न्यू इंडिया में बढ़ेगा किसान पर संकट

-डॉ सुनीलम किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष ,जनांदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय के राष्ट्रीय संयोजक ,पूर्व विधायक डॉ सुनीलम आम बजट को किसानों के लिए निराशाजनक बजट बताते हुए कहा है कि किसानों को कर्ज़ा मुक्त करने ,लागत से डेढ़ गुना समर्थन मूल्य पर खरीद का बजट में कोई प्रबंध नहीं किया गया है जिसके चलते कृषि संकट बढ़ेगा ,किसानों की…
और पढ़े...

मुलताई गोली कांड की 20वीं बरसी पर जारी हुआ मुलताई घोषणा पत्र 2018

12 जनवरी 1998 को मुलताई में किसानों के ऊपर हुए गोलीकांड में 24 किसान मारे गए थे। 12 जनवरी 2018 को उस घटना के…

मुलताई गोली कांड की 20वीं बरसी : किसानों के हित में संघर्ष जारी रहेगा

20वें शहीद किसान स्मृति सम्मेलन में सर्व सम्मति से पारित हुआ मुलताई घोषणा पत्र अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने देश के किसानों में किया नई आशा और ऊर्जा का संचार कृषि उत्पादों का भाव गिरने के लिए केंद्र सरकार की आयात-निर्यात नीति जिम्मेदार भाजपा सरकार ने बनाया किसानों को भिखारी 12 जनवरी 1998 को मुलताई में किसानों के ऊपर हुए…
और पढ़े...

सरकार की नीतियों के कारण किसान संकट में : हन्नान मौल्ला

रायपुर, 9 जनवरी 2018 - छत्तीसगढ़ के अनेक किसान, खेतिहर, आदिवासी संगठनों एवं विस्थापन प्रभावितों के आंदोलनों का…

छत्तीसगढ़ में बढ़ते किसान उत्पीड़न के विरुद्ध 8 जनवरी को रायपुर में किसान संकल्प…

पिछले कुछ वर्षो से हमारे देश का किसान और कृषि दोनों ही गहरे संकट में है। वर्ष 2003 से लगभग 6 लाख से अधिक…

दिल्ली में किसान मुक्ति संसद : देश भर के किसान कर्ज माफी को लेकर एकजूट

आज दिल्ली में देश भर के किसान अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले जुटे हैं। करीब 180 किसान संगठनों से जुड़े हजारों किसान रामलीला मैदान से संसद मार्ग तक रैली लेकर पहुंचे। इन किसानों द्वारा कर्ज माफी और फसल का लागत से डेढ़ गुणा मूल्य की मांग की जा रही है। संसद मार्ग पर 'किसान मुक्ति संसद' बुलाई गई जिसमे किसानों ने…
और पढ़े...

किसान मुक्ति यात्रा का चौथा चरण समाप्त : 20 नवंबर को किसान मुक्ति संसद दिल्ली में

18 राज्यों में 10 हज़ार किलोमीटर की किसान मुक्ति यात्रा का चौथा चरण समाप्त किसान एकजुटता की नई…

किसान मुक्ति संसद : 20 नवंबर को दिल्ली में जुटेंगे देश भर के किसान

देश भर में हो रहे किसान मुक्ति यात्रा का तीसरा चरण बिहार, उत्तर प्रदेश, और उत्तराखंड की यात्रा के बाद सम्पन्न…

मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ दक्षिण भारत के किसान एकजूट, किसान मुक्ति संसद में जुटेंगे देशभर के किसान; 20 नवम्बर, नयी दिल्ली

किसान मुक्ति यात्रा के दूसरे चरण का समापन 23 सितम्बर 2017 को बगलूरू में हुआ। 8 दिविसय यात्रा पांच राज्यों में से गुजारी, यात्रा के दोरान 50 से अधिक सभाएं हुई। जिनमे 500 से 25000 हजार तक किसान शामिल हुए। आन्ध्र प्रदेश, तेलगाना और तमिलनाडु में 20 से 30 किसान संगठनों ने मिल कर यात्रा की मेजबानी की। केरल में अखिल भारतीय किसान सभा तथा कर्नाटक में…
और पढ़े...